Skip to main content

हम तराने तेरे प्यार के, मरते मरते भी गाते रहे,तेरे दीपक की लो कम न हो, इसलिए खून बहाते रहे,तेरा महके हमेशा चमन, ऐ वतन मेरे वतन...मेरे वतन,तेरे आशिक दुआ कर चले, हुस्न तेरा दमकता रहे,सर हमारा रहे न रहे, तेरा माथा चमकता रहे,तेरी धरती को चूमे गगन, ऐ वतन मेरे वतन...मेरे वतन,

जय हिन्द



ये हैं बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग पर स्थिति नंदप्रयाग के पास एकछोटा सा गांव पुरसाड़ी..पांच दिन से 22 परिवारों वाले गांव का दूश्य बदला हुआ है..सड़क के एक ओर टेंट लगाकर बनी रसोई में दस से ज्यादा गांवों की महिलाएं भोजन बनाने में जुटी हैं..इनमें से कई15 से 20 किलोमीटर पैदल चलकर यहां पहुंच रही हैं..रसोई मेंतीन शिफ्ट में दो हजार लोगों के लिए 24 घंटे खाना पकाया जा रहा है..भोजन बदरीनाथ राजमार्ग पर फंसे यात्रियों के लिए है...सिर्फपुरसाड़ी ही नहीं, खाना दस किलोमीटर दूर चमोली तक पहुंचाया जा रहा है..वह भी निशुल्क.."भारत की मिडिया" अब ये न बोल देना की ये किसी शादी का दृश्य है...?


अपनी जान की परवाह किए बिना भारतीय सेना बाढ़ की मार झेल रहे लोगों को बचाने में जुट गई है। सेना के 5,000 जवान राहत और बचाव कार्यों में लगे हैं...तस्वीर में दिख रहा यह जवान यमुना नगर के गांवों में लोगों को बचाने में लगा है।
ऐसे जवानों को नमन....जय जवान, जय किसान..And same on u indian Govt. ... inse se seekho kuch..
We r proud to be an indian .. because we have the best solders of the world..who are protecting us...


Ye halat hai is desh k sarkaar ki...ki musibat mein fase logo ko bachane k liye bhi paise mange ja rahe hai......or jo avaition company ye 1 lakh le rahi hai uska malik hai sonia gandhi ka damaad..................Robert Vadra or jaan booj kar is aviation company ko bulaya hai sonia gandhi ne taki logo ko loot shake.. nahi to humari Indian Air force hi kafi hai aapne desh wasiyo ko bachabe k liye.. .

Ab to sonia gandhi ne puri besarmi ki hade par kar li hai.....

Please I request u all... bhol k bhi dobara is desh ko inke hatho mat soopna.. nahi to ye congress sab loot k kha jayegi....

Fuck u Congress.......

I request u Not to support it again..... use chuno jo is desh ki sochta ho, aapne desh wasiyo ki sochta ho.... in corrupt congreso ko nahi..

Ab to sonia gandhi ne puri besarmi ki hade par kar li hai.....
Please I request u all... bhol k bhi dobara is desh ko inke hatho mat soopna.. nahi to ye congress sab loot k kha jayegi....
Fuck u Congress.......
I request u Not to support it again..... use chuno jo is desh ki sochta ho, aapne desh wasiyo ki sochta ho.... in corrupt congreso ko nahi..




मित्रो पहले केदारनाथ जेसा था ! वेसा ही हो गया ! मेरी प्रशाशन से अब अपील है ! की केदारनाथ को प्राकृतिक के ही रूप में रखा जाय ! उस के आस जो अनावश्यक निर्माण ना हो फिर प्रक्रति माफ़ नही करेगी 



Bolne Wale ne Sahi bola ............ Ki ye desh hai veer jawano ka...
Sale baki sab choor hai....


कौन कहता है कि अब हमारे देश में इंसानियत नहीं बची ?
जरूर पढ़े और शेयर भी करें।
ये हैं बिन्देश कुडियाल जी,इनका उत्तरकाशी के पास अपना होटल है। जहाँ पर कई यात्री फंसे हुए हैं और सरकार द्वारा अभी तक कोई भी राहत कार्य नहीं हुवा है।
बिन्देश जी अपने आस-पास के होटल वालों के साथ मिल कर दूर-दूर से आये तीर्थ यात्रियों की सेवा में लगे हैं।
ये सब किसी भी तीर्थ यात्रियों से रहने खाने का पैसा नहीं ले रहे हैं।
उनका सबसे कहना है की आप आइये,रहिये,खाइएअगर आपसे होगा तो सकुशल घर पहुच कर पैसे भेज दीजियेगा,वैसे उसकी भी जरुरत नहीं है।
आज उत्तराखंड में बिन्देश जी जैसे हजारों लोग प्रदेश में आये मेहमानों की सेवा में लगे हैं।
और एक बात बिन्देश जी के पास अमेरिका से एक सज्जन का फोन आया।
ये सज्जन कभी भारत आये होंगे और विन्देश जी के होटल में रहे होंगे।उनका विन्देश जी को कहना था कि उत्तराखंड के बारे में समाचारों में सुन के बड़ा दुःख हुवा।
कृपया,आप लोगों के लिए अपनी तरफ से जो बन पड़ता है
वो करिये,खाना,रहना,दवाई, आदि के लिए पैसे मैं आपको भेज देता हूँ।
ये सब बाते उन लोगों के गल में तमाचा हैं जो लोग आज मुसीबत के समय पांच रूपये वाला बिस्कुट सौ रूपये में बेच रहे है .

 — 

वर्दी में जो व्यक्ति दिख रहा है यही हमारे लिए असली भगवान्, समाजसेवी, नेता, फ़िल्मी सितारा, मानवाधिकार का सच्चा रक्षक और पूजा जाने वाला क्रिकेटर है. सच्चे अर्थों में यही "हो रहा भारत निर्माण" और "शाइनिंग इंडिया" theme का सच्चा अदाकार हो सकता है...आपदा का दंश झेल रहे उत्तराखण्ड में हजारों-हजार सेना के जवान राहत एवं बचाव कार्यों में लगे हैं अब तक दस हजार से अधिक लोगों को सुरक्षित बचा चुके हैं,
Salute to Real Heroes.


हिन्दुओ के शवों को कचरे के तरह जला रही है उत्तराखंड काँग्रेस सरकार
हिन्दू तो जीते जी कचरा है मरने के बाद उसकी क्या औकात ?कचरे के तरह भी 36 से 40 को ही जलाया गया है ,
बाकी की शवो को जानवर नोच कर खा रहे होंगे या नदी नालो मे बह रहे होंगे .....
इसका ज़िम्मेवार कोई सरकार नहीं हिन्दू स्वयं है |
क्योंकि हिंदुओं को सेकुलरिस्म की बीमारी लग गयी है !!


Popular posts from this blog

Employee Provident Fund (EPF) Withdrawal Rules

EPF or employee provident fund should only be withdrawn at the time of retirement, say financial planners. To encourage subscribers to transfer their money to a new EPF account rather than withdraw the sum, EPFO (Employees' Provident Fund Organisation) has taken many initiatives. EPFO's "One Member - One EPF Account" facility can be availed by subscribers after logging into the EPFO's member-interface website and accessing the "Online Services" tab. An EPFO subscriber can also take advance from EPF deposits in specific cases such as purchase/construction of house, repayment of loan, marriage of self/daughter/son/brother, medical treatment of family member etc. 


10 Things To Know About EPF Withdrawal
1) To encourage long-term savings, the government has formulated tax laws accordingly. If the withdrawal from a recognised PF happens after five years of continuous employment, it attracts no tax liability. In case of employment with different employers, if t…

Roles & Responsibilities of HR Managers

With advancement in technology, conventional methods are being replaced by new-age techniques. Globalization is on the rise and companies are spreading out all around the world, no longer restricted by geographical barriers. Economies are rising and falling and evolving continuously. Adding to the turmoil are stringent laws and regulations passed, leading to a constant void waiting to be filled with effective policies that follow all the legal guidelines and at the same time are not compromising on the organization’s survival. In the midst of all this, is a function necessary, but minimally looked upon – the human resource function. In a quest to integrate the operations and strategies of a business across a wide array of products, services, ideas, and cultures, the role of human resource managers is constantly evolving. HR managers, who were once confined to handling basic data work and routine record keeping amongst employees, are now exposed to an evolving nature of diverse workfo…

Human Resource Management

Human Resource Management (HRM) is the term used to describe formal systems devised for the management of people within an organization. The responsibilities of a human resource manager fall into three major areas: staffing, employee compensation and benefits, and defining/designing work. Essentially, the purpose of HRM is to maximize the productivity of an organization by optimizing the effectiveness of its employees. This mandate is unlikely to change in any fundamental way, despite the ever-increasing pace of change in the business world. As Edward L. Gubman observed in the Journal of Business Strategy, "the basic mission of human resources will always be to acquire, develop, and retain talent; align the workforce with the business; and be an excellent contributor to the business. Those three challenges will never change." Until fairly recently, an organization's human resources department was often consigned to lower rungs of the corporate hierarchy, despite the fac…